Login

Login with Google

Art

नाट्यशास्त्र का सामान्य परिचय

चतुर्विध अभिनय के सहायक नृत्य, गीत, वाद्य एवं गति, वृत्ति, प्रवृत्ति और आसन का अनुसंधान भी नाट्य के अंतर्गत है। इस प्रकार अभिनय के विविध अंग एवं उपांगों के स्वरूप और प्रयोग के आकारप्रकार का विवरण प्रस्तुत कर तत्संबंधी नियम तथा व्यवहार को निर्धारित करनेवाला शास्त्र 'नाट्यशास्त्र' है।

Read More

The Origin and the Use of Image in India – Part 1

In this excerpt from the book “Transformation of Nature in Art” by Ananda K. Coomaraswamy, he explores the conception of Art in India. He analyzes icon worship in India and explains how the Hindus conceive divinity and how they worship it. He also analyzes the hypocritical attitudes of Christianity and Islam who blame Hindus of being superstitious.

Read More
X